कोरोना से ठीक होने के बाद भी है खतरा, जा रही है आँखों की रौशनी

484

रोज नई नई बातें सामने आ रही है कोरोना को लेकर कोरोना का संक्रमण इस समय बढ़ता ही जा रहा है और इससे बचाव बहुत जरुरी है कोरोना में नई नई बीमारियां और लक्षण सामने आ रहे है, कोरोना से सही होने के बाद भी नहीं है सही आप लोग क्युकी इसके बाद भी लक्षण सामने आ रहे है अब गुजरात के सूरत में कोरोना से संक्रमित जितने भी लोग थे उनमे ब्लैक फंगस देखने को मिल रहा है। यहाँ कुछ आइए मामला हुआ है की 8 मरीजों के कोरोना से सही होने के बाद उनके आखों की रौशनी चली गयी है और तो और बीते हुए 15 दिन में ब्लैक फंगस के 40 मामले सामने आये थे उनमे से 8 की आँखों की रौशनी चली गयी है।

ब्लैक फंगस होता क्या है

ब्लैक फंगस की बात की जाए तो यूएस सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) के मुताबिक ब्लैक फंगस एक बहुत ही दुर्लभ फंगल संक्रमण है। अगर आपको ब्लैक फंगस होता है तब ये सीधा आपके फेफड़ो पर अटैक हुआ है। स्किन के जलने या कटने पर कोई घाव हो जाता है तो उसके बाद फंगल संक्रमण देखने को मिलता है। ब्लैक फंगस गुजरात और अन्य हिस्सों में धीरे धीरे फैलता जा रहा है।

सीधा होता है आँखों पर हमला

ये कोरोना से सही होने के 4 – 5 दिन बाद होता है सबसे पहले ये फंगल संक्रमण साइनस में होता है और ये कोरोना से ठीक होने के बाद ही होता है और उसके 2 से 3 दिन बाद सीधा आँखों पर करता है अटैक और आँखों की रौशनी चली जाती है। गुजरात के सूरत में किरण अस्पताल के ईएनटी विशेषज्ञ डॉ संकेत शाह बताते हैं कि किसी शख्स में कोरोना से ठीक होने के होने के 2 से 3 दिन बाद ब्लैक फंगस के लक्षण नजर आते है। आँखों में सीधा अटैक हो रहा है तो इसको रोकना बहुत आवयशक है।

ऐसे लोगो को है अधिक खतरा

सबको पता है कोरोना में जिन लोगो की इम्युनिटी कमजोर होगी वही कोरोना की चपेट में आएगा और फंगल संक्रमण कमजोर इम्युनिटी वालो को ही हो रहा है वही इसकी चपेट में आएगा। जिन लोगो को शुगर की बीमारी है वो भी इसकी चपेट में आ रहा है। जिन लोगो को मधुमेह या कैंसर भी है उनको बहुत जल्दी हो रहा है और ये लोग चपेट में आ रहे है तो जिनको पहले से ऐसी बीमारियां है वही इसकी चपेट में आ रहे है जल्दी से।

लक्षण क्या है ब्लैक फंगस के

ब्लैक फंगस के है ये लक्षण जैसे सिरदर्द होना, आंखें लाल होना, बलगम निकलना, एक तरफ चेहरे पर सूजन होना, बुखार आना, खांसी चलना, छाती में दर्द उठना और सांस लेने में इनमे आपको सचेत हो जाना चाहिए की कही आपको ब्लैक फंगस तो नहीं हो रहा क्युकी इसमें आपकी आँखों की रौशनी भी जा सकती है।