इंस्पेक्टर बना जल्लाद, मोबाइल चोरी करने पर दी इतनी खौफनाक सजा

520

पुलिस जो हमारे लिए काम करती है उसके लिए उनको जितनी इज्जत दी जाए वो कम है लेकिन सभी पुलिस अफसर एक जैसे नहीं होते कोई दबंग पुलिस वाला होता है जो की हमारे लिए अपनी जान पर भी खेल जाता है या कुछ पुलिस अफसर भी ऐसे भी होते है जिनसे आम लोग बाग़ बहुत डरते है क्युकी वो अपनी वर्दी का कुछ ज्यादा ही नायजाज फ़ायदा उठाते है ऐसा ही कुछ मामला सामने आया है की एक खाकी वर्दी वाले ने तो अपनी वर्दी को ही कलंकित करने का काम कर दिया है और ये मामला गुजरात का है पुलिस अफसर ने एक चोर की साथ बहुत गन्दा बर्ताब किया है उस पुलिस अफसर ने चोर की प्राइवेट पार्ट में सरिया के साथ पेट्रोल और मिर्ची डाल कर बहुत ज्यादा पीड़ित किया बहुत दर्द दिया उसको ये देख वहा के आस पास के लोग बाग़ भी दांग रह गए।

ये पूरी घटना सूरत के उमरा थाने की है…

ये पूरी घटना सूरत के उमरा थाने की है। मोहम्मद जावेद और मोहम्मद अली शेख नमक इन दो युवक ने चोरी करी थी और उन पर 6 अक्टूबर को केस दर्ज हुआ था। इसके बाद 13 अक्टूबर को मोहम्मद जावेद की गिरफ़्तारी हुई और फिर ये मामला बुधवार को सूरत कोर्ट तक पहुंच गया। इसके बाद जज ने थाने के इंस्पेक्टर के खिलाफ केस दर्ज हुआ और पीड़ित की मेडिकल जांच करने का आदेश दिया। और हम आपको बता दे की इंस्पेक्टर का नाम कुलदीप सिंह झाला है।

आरोपी ने कुलदीप सिंह झाला की पूरी…

आरोपी ने कुलदीप सिंह झाला की पूरी करतूत बताई उन्होंने बताया की 5 अक्टूबर को ही गिरफ्तार कर लिया गया था लेकिन कोई केस डाला नहीं गया और उसके बाद 11 अक्टूबर को उस आरोपी के साथ जानवरो से भी गन्दा व्यहवार किया गया और उनकी बहुत बुरी तरीके से पिटाई की गयी। फिलहाल उनको सिविल में भर्ती करा दिया गया है।

मोहम्मद जावेद ने बताया की उनके साथ…

मोहम्मद जावेद ने बताया की उनके साथ जेल में बहुत गन्दा व्यहवार किया जाता था कुलदीप सिंह झाला लॉकअप में बहुत मारा पीटी करता था और इतना ही नहीं की सिर्फ मोहम्मद जावेद से ये व्यहवार किया हो मोहम्मद जावेद ने बताया लॉकअप में सभी कैदियों के साथ बहुत बुरा व्यहवार करता था। मोहम्मद जावेद ने बताया ये इंस्पेक्टर इंसान नहीं जल्लाद है।

डॉक्टरों की माने तो आरोपी की पिटाई…

डॉक्टरों की माने तो आरोपी की पिटाई बहुत बुरी तरह से की गयी है खून सरीर में रीश रहा है जाँघ के साथ साथ पुरे शरीर पर बहुत ही ज्यादा घाव और पिटाई के बहुत गंदे निसान हो गए है सिविल अस्पताल के सीएमओ डॉ. दिनेश मंडल ने पुलिस वालो और कोर्ट को बताया की अभी भी उनका इलाज चालू है और समय के साथ साथ ही इनके घाव बढ़ेंगे और अपनी पोजीशन का गलत फ़ायदा नहीं उठाना चाहिए।