अगर आपको भी हो रहे है कोरोना के ये नए लक्षण, तो जल्दी पहचाने इन संकेतो को

2061

इस समय देश में दुबारा कोरोना संक्रमित हो रहा है और सिर्फ एक व्यक्ति से कुछ नहीं होगा सबको अपना अपना योगदान देना होगा इसमें ताकि हम लोग कोरोना से एक साथ लड़ सके। क्युकी ये कोरोना की नई स्ट्रेन है और ये स्ट्रेन पहले वाली से ज्यादा खतरनाक है और साल जब 2021 की शुरुआत हुई थी तो वैक्सीन के साथ नई उम्मीद के साथ हुई थी लेकिन मार्च आते आते ये संक्रमण तेजी से दुबारा फेल रहा है और पहले से ज्यादा तेजी से फेल रहा है। पहले वाली स्ट्रेन में सिर्फ बड़े बूढ़ो को खतरा था लेकिन दूसरी स्ट्रेन में तो नोजवानो को भी बहुत खतरा है तो हमे सबसे पहले तो इसके लक्षण पता होने चाहिए क्युकी दूसरी स्ट्रेन में लक्षण अलग प्रकार के है। तो चलिए आपको भी बता देते है की क्या है वो लक्षण, पहले के ये थे लक्षण खांसी, बुखार, ठंड, सांस की तकलीफ, स्वाद या सूंघने की क्षमता का कम होना, मांसपेशी में दर्द या शरीर में दर्द, सिर दर्द, गले की सूजन शामिल थे।

मुँह का सुखना

कोरोना के अगर नए लक्षणों की बात की जाए तो इसमें सबसे पहला लक्षण ये है की मुँह का सुखना ये इस समय कोरोना का लक्षण है इस लक्षण में लोगो से बात करने में दिक्कत आना सही तरीके से बात न कर पाना क्युकी नई स्ट्रेन में लार बनने की प्रकिया को ख़तम कर देती है जिससे मुँह ज्यादा सूखने लग जाता है और बात करने में दिकत आने लगती है। आपको ऐसे लगने लगेगा की आपका मुँह सुख रहा है।

बहरापन

इस दूसरी स्ट्रेन में बहरापन भी एक अहम लक्षण है इसमें आपको अचानक से कम सुनाई देने लगेगा अगर आप दूसरे स्ट्रेन की चपेट में आ गए और संक्रमित हो गए तो आपको बहरेपन की भी दिक्कत आ सकती है तो आपको इस स्ट्रेन से बचाव बहुत जरुरी है।

अन्य लक्षण

अगर हम मुँह के सूखने और बहरेपन से हट के बात करे तो सिर्फ ये 2 ही नहीं है कोरोना के लक्षण और भी बहुत से लक्षण है जिनसे आपको बचना है मांसपेशी में दर्द, स्किन का संक्रमण, खराब दृष्टि, पेट की खराबी और कंजक्टिवाइटिस या पिंक आई, गले में खराश, सिर दर्द, रैशेज, पेट की खराबी, उंगली और अंगूठों के रंग में बदलाव अगर ये सब है तो जितनी जल्दी हो सके इससे बचाव करे और जल्द ही अपना इलाज कराये।

पहले से तेज फेल रहा है

अगर हम पहले की बात करे तो अगर किसी एक को कोरोना होता था तो एक मरीज 30 से 40 फीसदी लोगो को संक्रमित करता था लेकिन दूसरी स्ट्रेन में तो एक मरीज 70 से 80 फीसदी लोगो को संक्रमित कर रहा है तो ये पहले से ज्यादा खतरनाक स्ट्रेन है और रिसर्च टीम के मुताबिक केन्ट वेरिएन्ट या ब्रिटिश वेरिएन्ट B.1.1.7 ज्यादा जल्दी और तेजी से फैलता है।

क्या करे कोरोना होने पर

अगर आपको कोरोना हो जाए तो जल्द से जल्द अपने आपको आइसोलेट कर ले और अपने किसी से ना मिले और डॉक्टर की सलाह ले और अपनी इम्युनिटी को बढ़ाये ताई ये जल्द ही सही हो जाए और ज्यादा घबराने वाली बात कोई नहीं है।

यदि हमारी दी गई जानकारी से आप संतुस्ट है तो ये सुचना आप अपने सभी दोस्तों या रिलेटिव्स को व्हाट्सअप के माध्यम से शेयर कर सकते है और अधिक जानकारी पाने के लिए बने रहिए हमारे साथ धन्यवाद।