देखिये कैसे हार्मोन्स के बदलने से बदल जाती है त्वचा

885

ऊपर वाले ने सबसे अच्छी चीज बनाई है तो वह है मनुष्य का शरीर। मनुष्य का शरीर बहुत ही रहस्यमई है, जिसके बारे में बड़े-बड़े विद्वान विचार विमर्श करते हैं। हमारे शरीर का हर एक अंग दूसरे अंग से जुड़ा होता है। हमें जब भी डर लगता है तो हमें पसीना आ जाता है और जब आंखों में कुछ जाता है तो सबसे पहले पलकें बंद हो जाती हैं। आज के इस लेख में हम आपको शरीर में होने वाले अचानक परिवर्तनों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे जानकर आप चौक जायेंगे। चलिए जानते हैं की आखिर ऐसा क्या होता है हार्मोन्स के बदलने से जब अचानक से हमारी त्वचा बदलने लगती है। ऐसे में किन किन स्थानों की त्वचा में परिवर्तन आता है। आइये जानते है। ऐसे में क्या करना चाहिए और क्या सही उपाय है इसका।

त्वचा का सिकुड़ना

जो लोग ज्यादा समय तक पानी में रहते हैं उनके हाथ और पैर की उंगलियां सिकुड़ने लगती हैं, क्योंकि ज्यादा देर तक पानी में रहने से त्वचा में चिकनाहट उत्पन्न होती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि पानी में चीजों को पकड़ने के लिए मजबूती चाहिए होती है।

रोंगटे खड़े करना

जब कभी आपको बहुत तेज ठण्ड या कोई ऐसी बात हो जाती है तो ऐसे में रोंगटे खड़े हो ही जाते है ।

पेट में गुनगुनाहट

दरअसल जब रिसालत आने वाला होता है तो यह अक्सर होता है की पेट में मानो तितलियाँ उड़ रही हो।

जम्हाई लेना

जम्हाई लेना कोई बड़ी बात नहीं है दरअलस जब किसी इंसान की नींद अच्छे से पूरी नहीं होती तब उसको नींद आती ही है।

छीक आना

छींक आना स्वाभाविक है कभी कभी इसके लक्षण ख़राब भी होते है कभी अच्छे भी होते है। ज्यादातर सर्दी जुखाम से ऐसी समस्या आती है।