डब्बे में पाद मारकर सूंघने के ये बेहतरीन फायदे, नहीं जाना तो नुक्सान होगा

1235

दोस्तों आप सोच रहे होंगे की ये क्या पाद जैसी गन्दी चीज हम आपके लिए ले आये मगर ये हंसने का विषय नहीं है दरअसल पाद को लेकर एक रिसर्च में सामने आया है। पाद मारना सेहत के लिए कितना जरूरी है जो लोग पाद को शरीर के अंदर रोक लेते वो बेहद गलत करते है और इसका खामियाजा भी उन्हें भविष्य में भुगतना पड़ सकता है। कहते है पाद सेहत के लिए बहुत जरूरी है। पाद मारना आपको और आपके शरीर दोनों को स्वस्थ रखता है। ये आर्टिकल आपके लिए बेकार नहीं बल्कि बहुत कामगार साबित होने वाला है। दरअसल आज हम आपको बताएंगे की केवल पुरुष ही नहीं बल्कि महिलाए भी पादती है और इस बात को नकारा नहीं जा सकता। की पाद शरीर के लिए कितना जरूरी है।

पाद है ज्वलनशील

पाद बॉडी में बनकर तैयार होता है तब उसका तापमान 98.6 डिग्री फारेनहाइट होता है। पाद में आग लग सकती है। आपने महसूस किया होगा कि नहाते वक्त का पाद ज्यादा बदबूदार होता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि उस वक्त नाक में नमी रहती है। बता दें पाद में 59% नाइट्रोजन 21% हाइड्रोजन 9% कार्बन डाइऑक्साइड और 7% मीथेन गैस होता है। इन गेस के अलावा ऑक्सीजन गैस भी पाई जाती है जो कि सिर्फ 3% होती है। पाद मारने में बहुत से लोग हिचकिचाते हैं। क‌ई लोग तो पाद अपने बॉडी के अंदर ही रोक लेते हैं। जो हमारे सेहत के लिए सही नहीं।

बीपी कंट्रोल में मदद

आपको बता दे की बीपी को कंट्रोल रखने में पाद काफी मदद करती है। अगर आपने किसी कारणवश पाद को रोक लिया तो पाद दिमाग में चला जाएगा और फिर वह आपका सिर दर्द का कारण बन जाएगा। शरीर में रुका हुआ पाद नींद में जरूर निकलता है। जानकर हैरानी होगी कि ब्लू व्हेल जो पाद मारता है वह इतना चौड़ा होता है कि उसमें घोड़ा आ सकता है।

पाद से दम भी घुट सकता है

आपको एक ऐसे कमरे में बंद कर दिया जाए जहाँ पर आपका पाद भरा हो तो आपकी दम घुटने से मौत हो सकती है। हवाई यात्रा के वक्त लोग ज्यादा पाद मारते है। इसलिए वहाँ बदबू कम करने के लिए चारकोल फिल्टर का इस्तेमाल किया जाता हैं। इंसान के मरने के 3 घंटे बाद भी पाद आ सकता है। इंसान एक साल में लगभग 17,000,000,000,000,000 पाद मारते है।