इस बड़े राज से खुलेगा पर्दा की आखिर इस सुपरस्टार की हुई थी हत्या या आत्महत्या

1718

कहते है कुछ राज जिंदगी के साथ ही दफ़न हो जाते है किसी को पता ही नहीं चलते मगर यह बात भी सच है की मरने वाला अक्सर किसी एक इंसान को अपने बारे में सब कुछ बता कर जाता है, वो उस से जुडी हर बात को जानता है , उसकी ख़ुशी का कारण, उसके पैसे , संपत्ति , प्यार , दुश्मन सभी चीजों के बारे में जरूर जानता है , ऐसे में आज हम आपको एक ऐसी एक्ट्रेस के बारे में बताने जा रहे है जिसके नाम से स्टारडम चलता था लोग उसको नाम से नहीं बल्कि उसकी शक्ल से पहचानने लगे थे इतना ही नहीं एक समय था जब कोई भी फिल्म ऐसी नहीं होती थी जिसमे इस मशहूर अदाकारा की अदाकारी ना हो मगर ना जाने भगवान् को क्या मंजूर था क्युकी जिस एक्ट्रेस की हम बात करने जा रहे है उसकी मौत के दो दिन बाद लोगो को पता चला की वो अब इस दुनिया में नहीं रही आइये जानतेहै उनके बारे में।

परवीन बॉबी

जी हां आज हम जिस नाम की चर्चा कर रहे है वो है परवीन बॉबी यह सिर्फ नाम ही नहीं था बल्कि बॉलीवुड का वो चमकता हुआ सितारा था जो वाकई खूबसूरत था। परवीन बाबी का जन्म 4 अप्रैल 1949 को जूनागढ़, गुजरात में हुआ था। परवीन अपने माता-पिता की शादी के चौदह साल बाद पैदा हुई थीं और यह इकलौती संतान थीं। उन्होंने अपने पिता को सात साल की उम्र में ही खो दिया था।

अमिताभ बच्चन के साथ चमकी किस्मत

आपको बता दे की परवीन बॉबी की किस्मत बॉलीवुड में गोते खा रही थी मगर अचानक उन्हें बिग बी के साथ काम करने का मौका मिला 1974 में परवीन बॉबी ने अमिताभ बच्चन के साथ काम किया तो उनकी किस्मत चमकी अमर अकबर एंथोनी फिल्म ने बॉलीवुड में धूम मचा दी थी।

असली प्यार के इन्तजार में रही

आपको बता दे की परवीन ता उम्र अपनी असली मुहब्बत के इन्तजार में रही आपको जानकर हैरानी होगी परवीन महेश भट्ट से लेकर कबीर बेदी जैसे कलाकारों के साथ लिविंग रिलेशन में रही मगर उन्हें सच्चा प्यार नहीं मिला हाथ में सिगरेट, दूसरे में शराब का जाम उनकी अदाओ में सबसे ज्यादा चलन में था।

22 जनवरी 2005 को की थी आत्महत्या

दरअसल आपको जानकार हैरानी होगी की परवीन बॉबी को परवीन बाबी सिजोफ्रेनिया नाम की मानसिक बीमारी से पीड़ित थीं, जो कि अनुवांशिक बीमारी थी। यही वजह थी कि इसके ठीक होने के आसार न के बराबर थे। इसके अलावा परवीन डायबिटीज और गैंगरीन से भी पीड़ित थीं, जिसके चलते उनकी किडनी और शरीर के कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था। यही नहीं बल्कि वो अपने निजी काम बाथरूम जाना या अन्य काम भी करने में असमर्थ थी।

आत्महत्या कर खुद को किया खत्म

अपनी इस समस्या से वो इस कदर तंग आ गयी थी की आखिर में उन्होंने खुद को खत्म करना ही सही समझा जिसके बाद एक रात वो इस दुनिया को अलविदा कह गयी , जब दो दिन तक अगल अबागल वालो ने बिल्डिंग के बहार दूध , और अखबार देखा और एक भी बार दरवाजा ना खुलते देखा तो पुलिस को जानकारी दी जिसके बाद उनकी डेड बॉडी उस घर से निकाली गयी।