महिलाओ को सहना पड़ता है ऐसा दर्द सिर्फ ये बात महिलाए ही समझ सकती है।

929

आज हम आपको महिलाओ के उस दर्द के बारे में बताने जा रहे है , जो शायद सुन कर आपके रोंगटे खड़े कर दे जी है महिलाओ को हम चाहे कितना भी कमजोर समझे नाजुक समझे मगर महिला महिला होती है , यु ही नहीं महिलाओ के सम्मान में कितने राजाओ ने अपनी जान दे दी कितनी महिलाओ ने खुद अपने सम्मान में जौहर कर लिया क्युकी अपने पुरुष के इलावा किसी और पुरुष का स्पार्श भी महिलाओ के लिए मौत से कम नहीं लेकिन आज हम आपको जिस दर्द का एहसास दिलाएंगे वो कोई छोटा मोटा दर्द नहीं है जानब वो दर्द असहनीय होता है आप या हम उस दर्द को सहन ही नहीं कर सकते, आइये आपका सामना कराते है उस दर्द से जिसकी हम लोग बात कर रहे है शायद तब देश के वो दरिंदे ये समझ पाएंगे की वो भी किसी माँ की कोख से जन्म लेकर धरती पर आये है ।

गन्दी घटनाओ को दे देते है अंजाम

आपको बता दे की ऐसे वेह्शी दरिंदे इस दुनिया में बहुत सरे है जो किसी भी नीच हरकत को करने से पहले सोचते नहीं है वो ये भी नहीं सोचते की वो भी एक माँ से जन्मे है उनकी भी एक बहन है इसलिए महिलाओ के प्रति समाज की सोच बदलने के लिए हम लाये है ये पोस्ट

जानिये एक महिला को होता है कब असहनीय दर्द

आइये हम आपको बताते है , की आखिर एक महिला को कब असहनीय दर्द होता है आपको पता है ये दर्द ऐसा होता है की आदमी इस दर्द को सेह ही नहीं सकता जी हां ये बात सच है आम आदमी इस दर्द में मर भी सकता है बावजूद कोमल महिलाए इस दर्द को इसलिए सहती है क्युकी वो एक नन्ही जान को इस धरती पर लाती है ।

नन्ही सी जान आती है धरती पर

इस दर्द को एक महिला सिर्फ इसलिए झेलती है क्युकी वो जानती है की उसके पेट में वो नन्ही जान है जो उसका भविष्य तय करेगी इसलिए हर पति हर पिता को यह सोचना चाहिए की एक महिला के साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए ।

डॉक्टर्स देते है इंजेक्शन

आपको बता दे की ऐसे हलात में जब महिलाओ का दर्द काफी बढ़ जाता है तो डॉक्टर्स बच्चे को पैदा करने की प्रक्रिया को बीच में कुछ देर के लिए छोड़ देते है क्युकी इसमें महिलाओ को बेहद सांस और खिचाव की आवश्यकता पड़ती है जब एक महिला काफी प्रेशर लगती है तब जाकर बच्चा बच्चेदानी से आगे खिसकता है ।

बेटे और बेटी में फर्क कर औरतो को ना दे सजा

आपको बता दे की भारत सरकार ने भी इसके लिए खासतौर पर गाइड लाइन जारी की है , इसमें बेटे को बेटियों के समान मैंने के लिए कहा भी गया है । इसलिए वो पुरुष जो महिलाओ को लड़के का दबाव बनाते है उन्हें इस बात को समझना होगा ।