आपकी बॉडी लैंग्वेज दर्शाती है इतनी बातें, ऐसे खड़े रहने वाले होते हैं कॉन्फिडेंट

213

एक इंसान को जीवन में तरक्की पाने के लिए बहुत सारी चीज़ों पर ध्यान देना पड़ता है। नए जेनेरेशन के लोग अपने आप को इम्प्रूव करने के लिए ग्रूमिंग क्लासेज लेते हैं ताकि खुद को एक्टिव और कॉंफिडेंट दिखा सकें। आज के युवा वैसे तो बहुत ही टैलेंटेड और उत्साहित होते हैं , मगर जब बात इंटरव्यू और प्रेसेंटेशन की आती है तब वो फेल हो जाते हैं। आपको अपना कॉलेज लाइफ अगर याद होगा तो एक मज़ेदार बात बताता हूँ , जब कभी आप अपने फ्रेंड्स के साथ रेस्टुरेंट या क्लब जाते होंगे तो वहां मौजूद वेटर्स से बात करने में बहुत सोचना पड़ता है। खास कर जो लड़के थोड़ा शर्मीले टाइप के होते हैं वो बहुत ही संकोच करते हैं वेटर को बुलाने में। सबसे ज़्यादा दिक्कत तो इंटरव्यू फेस करने में होता है , जब लड़के घबराहट में गलत हरकत कर बैठते हैं। आइए आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बताने जा रहे हैं जिसे जानकर आपको बॉडी लैंग्वेज समझने में आसानी होगी।

बार-बार पलकें झपकना

औसतन एक मिनट में आम इंसान 6 से 8 बार अपनी पलकों को झपकाता है , मगर जब ये आंकड़ा 20 से 25 बार हो जाये तो इसका मतलब वो इंसान थोड़ा नर्वस है। इस तरह का सीन अक्सर इंटरव्यू में देखने को मिलता है , ख़ास कर उस वक़्त जब सामने वाला पहली बार किसी इंटरव्यू में बैठा हो। अगर अपने किसी को इस तरह करते हुए देखा तो समझ जाये कि वो इंसान अभी घबराया हुआ है।

बैठने का तरीका भी रखता है महत्त्व

आपके बैठने का तरीका भी आपके स्वाभाव को दर्शाता है , इसीलिए आपके बैठने के तरीके से भी लोग आपके बारे में बहुत अच्छे से बता सकते हैं। ऊपर तस्वीर में जिस तरह से बैठा हुआ दिखाया गया है , वो बहुत ही डोमिनेटिंग नेचर के होते हैं। कोई भी कंपनी इस तरह के एम्प्लोयी को लेने से परहेज़ करते हैं।

हंसने का मतलब रज़ामंदी

अगर कोई व्यक्ति आपके हर बात में बार बार हंसने लगे , या आपके किसी भी बात पर हाँ में हाँ मिलाये …तो इसका मतलब है कि वो आपके ऊपर कुछ ज़्यादा ही मेहरबान है। इसका मतलब ये है कि वो आपके पक्ष में है या आप में बहुत दिलचस्पी ले रहा है।

नज़रें चुराने का मतलब

ये बहुत ही अहम इशारा है किसी को भी पकड़ने का आमतौर पर जो लोग बात करते समय ‘eye contact’ नहीं करते हैं , वो या तो आपसे झूठ बोल रहे हैं या फिर आपकी बातों से सहमत नहीं हैं। नज़रें चुराकर बात करने वाले लोग बड़ी खतरनाक किस्म के होते हैं , इनपर भरोसा करना खतरे से कम नहीं है।

कमर पर हाथ रखकर खड़े होना

जो व्यक्ति अपने प्रोफेशनल वर्क के दौरान अपने कमर पर हाथ रखकर खड़े होते हैं , उनमे बड़ा गज़ब का कॉन्फिडेंस होता है। इस तरह के लोग खुद पर बहुत भरोसा करते हैं और किसी भी चीज़ को बड़ी मेहनत से करते हैं।